आज फिर जीने की तमन्ना है: फ़िल्म मधुमती के गाने

मधुमती फ़िल्म का यह गाना – सुहाना सफर और ये मौसम हसीं, किसके जुबां पर नहीं चढ़ता…! इस पॉडकास्ट में आप जानेंगे कि कैसे इस गाने की रचना हुई.

मधुमती फ़िल्म का यह गाना लिखते समय गीतकार शैलेन्द्र के मन में क्या कुछ चल रहा था, यह अद्भुत जानकारी है इस पॉडकास्ट में.

भारत बोलेगा के इस पॉडकास्ट में आप यह भी जानेंगे कि मधुमती फ़िल्म का एक और गाना – जंगल में मोर नाचा के पीछे की क्या अजब-गज़ब कहानी है.

यह पॉडकास्ट हिंदी फ़िल्म मधुमती के इन दोनों गानों पर ही है, जिन्हें आप बार-बार सुनना-सुनाना चाहेंगे. सुनते रहें भारत बोलेगा.

आज फिर जीने की तमन्ना है सीरीज में आपको लगातार एक-के-बाद-एक क़िस्सा सुना रहे हैं बबलू दिनेश शैलेंद्र.

फ़िल्म डायरेक्टर होने के नाते फ़िल्मी कहानी सुनाने का बबलू दिनेश शैलेन्द्र का अनोखा अंदाज़ है.

सुनें और सुनाएं भारत बोलेगा पॉडकास्ट, जहां आपको जानकारी भी मिलती है और समझदारी भी.

इस सीरीज के सभी पॉडकास्ट सुनने के लिए यहां क्लिक करें.

भारत बोलेगा: जानकारी भी, समझदारी भी

चर्चा में