आज फिर जीने की तमन्ना है: शैलेन्द्र का वो डर

इस पॉडकास्ट में आप सुनेंगे कि आखिर क्या कारण था जिसकी वजह से संगीतकार एस.डी.बर्मन के घर की खिड़की से गीतकार आनंद बक्षी को कूद कर भागना पड़ा था.

गीतकार आनंद बक्षी

जी हां, यही जानेंगे हम इस पॉडकास्ट में जो आज फिर जीने की तमन्ना है सीरीज की चौथी कड़ी है. सुनें और सुनाएं भारत बोलेगा पॉडकास्ट, जहां आपको जानकारी भी मिलती है और समझदारी भी.

इस पॉडकास्ट में सुनें गीतकार शैलेन्द्र के बेटे बबलू दिनेश शैलेन्द्र की जुबानी आनंद बक्षी के खिड़की से कूद कर भागने की कहानी.

विदित हो कि आनंद बक्शी ने हिंदी फिल्मों के लिए एक से एक बेहतरीन और सदाबहार गाने लिखे. लेकिन इस गीतकार को किन कारणों से बर्मन दा के घर की खिड़की से कूदना पड़ा, यह एक दिलचस्प क़िस्सा है.

G Certificate GCP
खुद तय करें आपको कैसी ब्रांडिंग चाहिए

यह कहानी तब शुरू हुई जब लेडीज़ ओनली फ़िल्म का निर्माण होने वाला था. यह फ़िल्म दिग्गज अभिनेता कमल हासन को बॉलीवुड में बतौर प्रोडूसर लांच कर रही थी.

बबलू दिनेश शैलेन्द्र

यह अलग बात है कि साल 1997 में बनकर तैयार हो जाने के बावजूद किसी कारण से लेडीज ओनली अभी तक रिलीज़ नहीं हुई है.

फ़िल्म का निर्देशन किया था पॉडकास्ट में यह क़िस्सा सुनाने वाले बबलू दिनेश शैलेंद्र ने और मुख्य भूमिका में थे रणधीर कपूर, सीमा बिस्वास, शिल्पा शिरोडकर, हीरा राजगोपाल और खुद कमल हासन.

आज फिर जीने की तमन्ना है सीरीज के सभी पॉडकास्ट सुनने के लिए यहां क्लिक करें
website design and development by G Caffe branding agency
भारत बोलेगा: जानकारी भी, समझदारी भी

चर्चा में