आज फिर जीने की तमन्ना है: ‘पापी बिछुआ’

आज फिर जीने की तमन्ना है सीरीज के इस पॉडकास्ट में आप सुनेंगे कि बॉलीवुड में किस फ़िल्म के गाने में बिच्छू को पापी बताया गया, और क्यों?

आप यह भी जानेंगे कि महिलाएं बिछिया क्यों पहनती हैं, और संजीव कुमार ने बासु चटर्जी की फ़िल्म तुम्हारे लिए में खडाऊं पहनने से क्यों मना कर दिया था?

गीतकार आनंद बक्षी

जी हां, यही जानेंगे हम इस पॉडकास्ट में जो आज फिर जीने की तमन्ना है सीरीज की पांचवीं कड़ी है. सुनें और सुनाएं भारत बोलेगा पॉडकास्ट, जहां आपको जानकारी भी मिलती है और समझदारी भी.

इस पॉडकास्ट में सुनें गीतकार शैलेन्द्र के बेटे बबलू दिनेश शैलेन्द्र की जुबानी खडाऊं, बिच्छू और बिछिया की कहानी.

विदित हो कि चढ़ गयो पापी बिछुआ गाने को बिमल रॉय की फ़िल्म मधुमती में फिल्माया गया था. मधुमती विमल रॉय की व्यवसायिक तौर पर सबसे सफल फिल्म मानी जाती है.

G Certificate GCP
खुद तय करें आपको कैसी ब्रांडिंग चाहिए

This image has an empty alt attribute; its file name is call-to-action.png

फ़िल्म मधुमती के लिए शैलेन्द्र ने सलिल चौधरी की धुनों पर बेहद खूबसूरत गीत लिखे.

बबलू दिनेश शैलेन्द्र

मनुष्य अपनी सोच, अपनी कल्पनाओं, कामनाओं, विश्वासों, रवैये, मूल्य, मान्यताओं, व्यवहारों, आचरण, भूमिका व संबंधों में यौनिकता को अनुभव करता है और व्यक्त करता है. इसी तर्क पर प्रकाश डालता है यह पॉडकास्ट.

इस पॉडकास्ट में एक ज़िक्र संजीव कुमार और विद्या सिन्हा अभिनीत फ़िल्म तुम्हारे लिए का भी है. उस फ़िल्म में महान निर्देशक बासु चटर्जी के असिस्टेंट डायरेक्टर थे इस पॉडकास्ट में यह क़िस्सा सुनाने वाले बबलू दिनेश शैलेंद्र.

This image has an empty alt attribute; its file name is Bharat-Bolega-Podcast.png
आज फिर जीने की तमन्ना है सीरीज के सभी पॉडकास्ट सुनने के लिए यहां क्लिक करें

G Caffe creative agency

भारत बोलेगा: जानकारी भी, समझदारी भी

चर्चा में