मेहमान हैं, तो मेहमाननवाजी तो बनती है

यह कोई असामान्य बात नहीं है कि यदि आप कहीं मेहमान बन कर जाते हैं तो मन में कहीं ये भाव भी होता है कि आपकी मेहमाननवाजी का इंतज़ाम भी ज़रूर किया गया होगा.

किसी के घर या किसी समारोह में यदि खाना कम पड़ जाए या खाने का स्वाद ना भाए तो कुछ लोग निंदा भी करते हैं, जबकि कुछ बिना कुछ बोले ही उन मेज़बानों से मन खट्टा कर लेते हैं.

ध्यान सिर्फ खाने पर ही नहीं वहां की स्वच्छता, सजावट, आपके मनचाहे व्यंजनों एवं ड्रिंक्स की उपलब्धता, मेजबानों का आपके प्रति व्यवहार एवं आपके लिए किए गए खास इंतजामों पर भी जाता है. एक अच्छी शाम या वेकेशन कोई नहीं भूलता, और जब कभी भी ज़िक्र होता है तो आपकी प्रशंसा करने से लोग नहीं चूकते.

चाहे मेहमाननवाजी दिल को छू जाए, या उसकी कमी से आपका दिल छोटा हो जाए, इन दोनों ही स्थितियों में मेहमान हमेशा न्यायाधीश की भूमिका निभा कर मेज़बान एवं उसके द्वारा किए गए इंतजामों को जज करने लगते हैं. यही बात किसी होटल के तरफ से की गई मेजबानी एवं वहां ठहरे मेहमानों के साथ भी लागू होती है.

पर यदि आपने अपने घर कोई गेट-टूगेदर होस्ट किया हो, या कहीं कोई समारोह आयोजित करवाया हो, या किसी होटल में काम किया हो, तो आप इस बात से भी सहमत होंगे कि एक मेज़बान को भी कई दफा अपने मेहमानों से कई दिक्कतें एवं शिकायतें हो सकती हैं.

मेहमाननवाजी

किन छोटी-छोटी बातों का रखें ख्याल 

मेहमान हों या मेज़बान, जश्न के माहौल में किसी का भी निराश होना शोभा नहीं देता. तो आइए नज़र डालते हैं उन छोटी से छोटी बातों पर जिनका ख्याल रखने से आपके मेजबानों को थोड़ी सुविधा हो जाए, जिससे वह भी आने वाले हर समारोह या जश्न में आपको शामिल करना चाहें एवं आपको भी आने वाले समय में उनकी मेहमाननवाजी करने का अवसर प्राप्त हो.

एक अच्छे मेहमान का कर्तव्य समारोह में पहुंचने से पूर्व ही शुरू हो जाता है. मेजबानों को यह बताना ज़रूरी है कि क्या आप वाकई उनके कार्यक्रम में मौजूद होंगे या नहीं. मेज़बान उसी हिसाब से प्लेट्स की गिनती एवं अन्य व्यवस्थाओं का इंतजाम करते हैं.

यदि अपने साथ अन्य दोस्तों एवं रिश्तेदारों को ले जा रहे हों, तो इसकी भी सूचना पहले ही दे दें. इससे यह भी पुख्ता हो जाता है कि खाना बहुत ज्यादा या बहुत कम ना हो जाए. निमंत्रण पत्र पर दिए गए आरएसवीपी का जवाब दें. इस छोटी सी चेष्टा से आप अपने मेजबानों की बड़ी मदद कर सकते हैं.

यह कहना गलत नहीं होगा कि एक सर्वोत्तम मेहमान वो होता है जिसे खुद मेजबानी का तजुर्बा रहा हो. ऐसी स्थिति में आप छोटी-छोटी बातों का ख्याल रख सकते हैं. पहले से ही व्यस्त मेजबानों से दसवीं कप चाय मांगना या उनकी की गईं व्यवस्थाओं से किसी बेहतर कार्यक्रम की तुलना करना आपको एक अच्छा मेहमान नहीं बनाता.

जब तक आपको या आपके साथ आ रहे बच्चों एवं मित्रों को किसी चीज़ से परहेज या एलर्जी ना हो, तब तक अपने मेजबानों को अपने पसंदीदा या नापसंद व्यंजनों की कोई जटिल सूची ना थमा दें. मेज़बान के पूछने पर उनका आभार प्रकट करें.

जब तक आपके मेज़बान आपको नापसंद ना करते हों, तब तक आपको कुछ ऐसा नहीं परोसेंगे जो आप खा ही ना पाएं. यदि मेन्यू में कुछ ऐसा हो जो आप ना खाते हों, तो उसे नापसंद करने का ज़िक्र करने की बजाए उन्हें बिन बताए उसे खाएं ही नहीं.

मन का हो तो क्या ही बेहतर

बिना मन के ना किसी समारोह में खुद जाएं, और ना किसी अन्य को ज़बरदस्ती जाने के लिए मजबूर करें. पार्टी में पहुंच कर सारा समय अपने मोबाइल पर व्यतीत करने की बजाय मेज़बान एवं अन्य लोगों से मिलें जुलें, उनसे बातें करें, परंतु उनके निजी मामलों में दखलंदाजी करने से बचें.

किसी से भी किसी प्रकार की बहस या झगड़े में ना उलझें. यदि धुम्रपान आपसे ना संभलता हो तो पार्टी में उसके सेवन से दूर ही रहें. ऐसा करने से ना ही मौजूदा लोगों के बीच आपकी एक नकारात्मक छवि बनती है, बल्कि आपके मेजबानों द्वारा इस पार्टी में की गई तैयारियों एवं उनके मूड पर भी पानी फिर जाता है.

मेहमाननवाजी

कैसे करें अपने मेजबान से सहयोग

ध्यान रखें, आप उनके घर उनकी खुशियों में शामिल होने जा रहे हैं, उनका ब्लड प्रेशर बढ़ाने नहीं. यदि आपको बार-बार चाय या कॉफी पीने की आदत हो, तो उनसे पूछ और समझ लें कि आप खुद कहां चाय बना सकते हैं. जब भी अपने लिए कुछ बनाएं, तो वहां मौजूद अन्य लोगों को भी ऑफर करें. यदि बार-बार चाय या कॉफी पी रहे हों, तो एक ही कप का इस्तमाल करें.

मेज़बान को मेहमाननवाजी करने में खुशी होगी यदि आप खुद भी सहयोग दें. एक मील के बाद जब उन्हें थोड़ी देर बैठने की फुर्सत मिले तो उस समय उन्हें ना ही छेड़ें तो बेहतर होगा. इस वक्त यदि आप उनसे एक कप चाय, या अपने बच्चे के लिए मैगी या सैंडविच बनाने को कहेंगे, तो यह एक अच्छे मेहमान होने का परिचय नहीं होगा. वह आपके या आपके बच्चों के नखरे उठाने नहीं बैठे हैं.

खाने के बाद अपनी प्लेट स्वयं उठा कर रखें. खाना परोसने से लेकर, साफ़ सफाई तक अपनी हरसंभव मदद का प्रस्ताव रखें.

यदि आपके साथ आपके सगे संबंधी, मित्र या बच्चे हों, तो उनकी जिम्मेदारी भी लें. साथ ही ऐसा भी ना करें कि बस अपने ही परिवार या दोस्तों के साथ ही लगे रहें. पार्टी में मोबाइल पर व्यस्त रहना, या चुपचाप एक कोना पकड़ लेना मेज़बान को यह संकेत देता है कि आप उनकी पार्टी में बोर हो रहे हैं और उन्होंने आपके मनोरंजन का ख्याल नहीं रखा.

मेज़बान के घर एवं उनके द्वारा की गई व्यवस्थाओं, चाहे वह खाना हो, या सजावट या उनका आपके प्रति भाव, जो भी आपको अच्छा लगे, उसकी प्रशंसा अवश्य करें. इससे उन्हें भी अच्छा लगेगा कि उनके द्वारा किए गए प्रयासों पर आपने ध्यान दिया और उनकी मेहनत रंग लाई.

याद रखें कि मेजबान ने आपको आमंत्रित कर, अपने घर को आपकी यात्रा के लिए तैयार करने से लेकर आपके मनोरंजन का ध्यान रखने तक का आयोजन कर अपने समय और संसाधनों की उदारता दिखाई है. अच्छे व्यवहार का प्रदर्शन करके इसका प्रतिवाद करें, ताकि वह भी सोचते रह जाएं, “अतिथि, तुम फिर कब आओगे?”

चर्चा में