कैसे बुक करें एक अच्छा होटल?

आजकल सभी होटल इंटरनेट से जुड़े होते हैं और ऑनलाइन बुकिंग करते हैं. इससे होटल को लेकर रिव्यू भी इंटरनेट पर मिल जाते हैं. इसलिए होटल में कमरा बुक करने से पहले लोगों के रिव्यू जरुर देख लें कि उस होटल की सर्विस कैसी है.

  • छुट्टियां बिताने के लिए अच्छा होटल चुनना एक चुनौतीपूर्ण काम होता है
  • तमाम विज्ञापन इस प्रक्रिया को और भी कठिन बना देते हैं
  • इस प्रक्रिया में ट्रैवल अड्डा आपकी मदद करता है

अनगिनत डील्स एवं पैकेज यात्रियों का ध्यान आकर्षित कर अंततः उन्हें गुमराह कर देते हैं. अतः इतने लुभावने प्रचारों के बीच यह समझना महत्वपूर्ण है कि आख़िरकार आप अपने लिए कैसा होटल चाहते हैं और जो होटल आप चुन रहे हैं क्या वह आपके लिए सही है भी या नहीं.

ट्रैवल अड्डा वेबसाइट के जरिये बजट होटल व लक्ज़री होटल दोनों ही बुक किया जा सकते हैं; पसंदीदा जगह पर छुट्टियां बिताने के लिए ट्रैवल अड्डा वेबसाइट पर टूर पैकेज भी उपलब्ध हैं

ट्रैवल इंडस्ट्री के एक्सपर्ट्स बताते हैं कि सबसे पहले अपनी ज़रूरतों का ध्यान रखते हुए मन में अपनी प्रायोरिटी यानी प्राथमिकता तय करना आवश्यक है. आपको अपने बजट का ध्यान रखते हुए होटल द्वारा दी जा रही सुविधाओं पर गौर करना जरूरी है.

याद रखें कि यह ज़रूरी नहीं कि हर सस्ता होटल खराब या काम चलाऊ हो और हर महंगा होटल आलीशान एवं सुविधाओं से लैस.

वैसे तो अधिकांश होटल अपने मेहमानों को ब्रेकफास्ट फ्री में देते हैं फिर भी आप बेझिझक होटल स्टाफ से इस संबंध में पूछताछ कर सकते हैं कि इसका अतिरिक्त चार्ज तो नहीं लगेगा, या फिर ब्रेकफास्ट का निश्चित समय तो नहीं है.

होटल चुनते समय उस जगह का ध्यान रखें जहां वह स्थित है. यदि आप सार्वजनिक परिवहन उपयोग करने वाले हैं, तो आपके होटल का एक केंद्रीय स्थान पर होना बहुत सुविधाजनक हो सकता है.

Travell Adda for online hotel bookings

आप ऑनलाइन चेक कर सकते हैं कि आपके होटल के आसपास बाजार, ईटिंग जॉइंट्स एवं बस स्टाप है या नहीं और आपका होटल अन्य घूमने की जगहों से कितना दूर या कितना पास है.

बच्चों को लेकर होटल में ठहरना हो तो स्वयं होटल से संपर्क कर परिवार अनुकूल नीतियों को बारे में जानकारी लेनी चाहिए.

होटल द्वारा पेश की गई तस्वीरों से ज्यादा यात्रियों के उस होटल के बारे में दिए गए रिव्यु पर भरोसा करना एक बेहतर तरीका हो सकता है.

ट्रैवल अड्डा के फाउंडर प्रतीक श्रीवास्तव के अनुसार यात्रियों के रिव्यू एवं रेटिंग अक्सर निष्पक्ष होते हैं, लेकिन इसका मतलब यह कतई नहीं है कि सिर्फ इन रिव्यू के बल पर ही आप अपना होटल चुनें.

Travel Adda Founder Prateek Srivastava.

प्रतीक का मानना है कि आपको अपने दोस्तों व संबंधियों की भी राय लेनी चाहिए जो उस जगह रह चुके हों. “ट्रैवल अड्डा बाकियों से भिन्न इसलिए भी है कि इस वेबसाइट पर सोशल मीडिया के समानांतर ‘गेट सोशल’ फोरम बना हुआ है जिससे जुड़कर आप अपनी राय व तस्वीरें शेयर कर सकते हैं.”

होटल बिल पर लगने वाले टैक्स या अन्य शुल्क के बारे में पहले ही जानकारी लेनी चाहिए ताकि बाद में कोई परेशानी ना हो.

छोटी-छोटी बातें अक्सर ज्यादा परेशानियां पैदा कर देती हैं, इसलिए बेहतर होगा यदि होटल बुक करने से पहले अपने सारे प्रश्नों के उत्तर खोज लें.

आपके प्रश्न कमरे के ए.सी., अटैच्ड वाशरूम से लेकर पार्किंग एवं वाई-फाई सुविधाओं से संबंधित हो सकते हैं. होटल बुक करने के साथ होटल की बुकिंग रद्द करने की पालिसी पर भी ध्यान दें.

Get Social on travel websites, says Travell Adda Founder Prateek Srivastava.

प्रतीक कहते हैं कि वे स्वयं अपनी ट्रैवल अड्डा वेबसाइट पर मिस्ट्री शौपिंग करते रहते हैं ताकि उनकी वेबसाइट से जुड़े होटल, ट्रैवल एजेंट्स, ऑनलाइन ट्रैवल एजेंसियां, टूर ऑपरेटर्स की सत्यता की परख होती रहे.

उन्होंने भारत बोलेगा को बताया, “अपने अनुभवों से मैंने अक्सर ही ट्रैवल अड्डा के जरिये सही होटल व टूर ऑपरेटर्स ढूंढने में सफलता पाई है.”

चर्चा में